Breaking News

सिद्धार्थनगर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा चलाए जा रहे। आओं चले गांव की ओर सामाजिक अनुभूति अभियान के तहत डुमरियागंज तहसील में एक दर्जन गांवों में जाकर वहां की समस्याओं को जानने का प्रयास किया गया। 

इस दौरान प्रमुख समस्याएं निकल कर सामने आयी। बाल विवाह, दहेज प्रथा, स्वास्थ सेवा,शुद्ध पेयजल, बेटी बचाओ बेटी पढाओं, नारी सशक्तिकरण, बेरोजगारी, शिक्षा आदि विषयों पर चर्चा की गई।विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता इस अभियान में जिले में पूरे मनोयोग से लगे हैं। 

इस दौरान जिला सहसंयोजक सौरभ पाण्डेय ने कहा कि असली भारत गांवों में बसता है। इसलिये भारत के पुनर्निर्माण का महान लक्ष्य गांव और ग्राम जीवन के पुनर्निर्माण /पुनरोदय के बिना सम्भव नहीं है। गांवों के पुनरोदय के लिए ग्रामजीवन से एकात्मकता अनिवार्य है। 

इस एकात्मकता के लिए सामाजिक संवेदना जरुरी है। और सामाजिक संवेदना के लिए सामाजिक अनुभूति परम् आवश्यक है। राष्ट्रीय पुन निर्माण के व्यापक लक्ष्य को लेकर चलने वाला दुनिया का सबसे बड़ा छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद समय - समय पर ऐसे देश समाज के लिए कार्य करता है। जिसमें देश समाज का भला हो। इस दौरान राज चतुर्वेदी, शोभित पाण्डेय कार्यकर्ता मौजूद रहे

Comments

Leaver your comment

Enter valid Name
Enter valid Email
Enter valid Mobile
Enter valid Message