Breaking News

गोरखपुर। पूर्वांचल की बेटियां अपनी प्रतिभा के बल पर समाज के विभिन्न क्षेत्रों में नाम रोशन कर रही हैं। शिक्षा, स्वास्थ्य, रक्षा, न्याय, प्रशासनिक आदि क्षेत्रों में इन बेटियों ने सफलता की नई नई इबारत लिखी है। कामयाबी की इस रवायत को आगे बढ़ाते हुए गोरखपुर से जुड़ी बेटी सामिया नसीम ने अमेरिका में जज बनकर पूर्वांचल ही नहीं बल्कि भारत का गौरव बढ़ाया है।

गोरखपुर से जुड़ी बेटी सामिया नसीम अमेरिका में जज नियुक्त की गई हैं। अमेरिका के अटॉर्नी जनरल विलियम बर ने शिकागो के लिए सामिया नसीम को जज के पद पर नियुक्त किया है। उन्होंने शिकागो में न्याय विभाग के मुख्य भवन में 20 दिसंबर, 2019 को विशेष समारोह में शपथ लिया।

सामिया नसीम पढ़ने में शुरू से ही मेधावी थीं। जज बनने से पूर्व वह अमेरिका में कई महत्वपूर्ण पदों पर अपनी सेवाएं दे चुकी है। उन्होंने 2001 में वाशिंगटन के साइमन कॉलेज से स्नातक की परीक्षा बेहतर अंकों से उत्तीर्ण की थी। उन्होंने 2004 में जुरिस डॉक्टर की पढ़ाई वाशिंगटन यूनिवर्सिटी लॉ स्कूल से पूरी की।

इसके अलावा साइमा नसीम ने इंटर नेशनल ह्यूमन राइट लॉ एंड रिफ्यूजी लॉ की पढ़ाई यूके के ऑक्सफ़ोर्ड से 2002 में की। साइमा नसीम का ऐकडेमिक कॅरियर बहुत ही शानदार रहा है।

पेशे से न्यूक्लियर इंजीनयर और लेखक तनवीर सलीम ने बताया कि सामिया नसीम का ताल्लुक मेरे गृह नगर गोरखपुर से है। तनवीर सलीम खुद अमेरिका में लंबे समय तक बतौर न्यूक्लियर इंजीनियर रहचुके हैं। मूलतः गोरखपुर के रहने वाले है और कई किताबों के लेखक हैं।

तनवीर सलीम ने बताया कि जज सामिया नसीम के पिता खालिद अमेरिका में पेशे से वकील हैं और उनकी मां होमायरा नसीम प्लास्टिक इंजीनयर हैं। साइमा नसीम के माता पिता भी अमेरिका में विभिन्न समाजसेवी सेवी संस्थाओं से जुड़कर समाज की बेहतरी के काम मे पूरी शिद्दत से जुटे हैं। खालिद मूलतः गीता प्रेस रोड गोरखपुर के मूल निवासी हैं, और 1978 में वे स्नातक की पढाई करने अमेरिका चले गए थे, फिर वहीं बस गए।

सामिया नसीम की इस उपलब्धि से शहर में हर्ष का माहौल है। लेखक व पत्रकार मो कामिल खान ने सामिया नसीम के अमेरिका में जज बनने पर खुशी का इज़हार करते हुए कहा कि ये एक हर्ष का विषय है कि अमेरिका में हर किसी को आगे बढ़ने के लिए बराबर का अवसर मिलता है, और उसकी योग्यता उसका भविष्य निर्धारित करती है।

लेखक व पत्रकार सैयद आसिम रउफ, डॉ खालिद अब्बासी, शमीम अख्तर अंसारी, मो जमील सिद्दीकी, इंजीनियर इरशाद अहमद खान, मो इब्राहिम, सग़ीर ए ख़ाकसार, जमाल खान, अख्तर हुसैन (दुबई), डॉ वसीम अख्तर, निहाल अहमद, डॉ आरिज़ कादरी, रिज़वान अंसारी, डॉ कौसर उस्मान, सरदार हरभजन सिंह, त्रियुगी अग्रहरि, नर्वदेश्वर शुक्ल, आदि ने साइमा नसीम की इस कामयाबी पर मुबारकबाद दी है।

Comments

Leaver your comment

Enter valid Name
Enter valid Email
Enter valid Mobile
Enter valid Message